दद्दाजी गुरूमां मंदिर का शुभारंभ 28 मार्च को ..

0
9
दद्दाजी गुरूमां मंदिर का शुभारंभ 28 मार्च को ..
डा. अनिल शास्त्री के सानिध्य में हुई दद्दा शिष्य मंडल की बैठक में लिया गया  निर्णय
सागर …  ब्रह्मलीन   गृहस्थ संत पं. देवप्रभाकर शास्त्री दद्दाजी  एवं गुरु मां श्रीमती कुंती देवी जी की पुण्य स्मृति में दद्दा शिष्य मंडल जिला सागर द्वारा संकल्पित देश के प्रथम  दद्दा जी के मंदिर का निर्माण कार्य पूर्ण हो चुका है एवं प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा हेतु आज 19 फरवरी को दद्दा जी के जेष्ठ पुत्र डॉक्टर अनिल शास्त्री जी के सानिध्य में  दद्दा शिष्य मंडल की बैठक में डा. अनिल शास्त्री ने घोषणा करते हुए कहा है कि 28 मार्च को दद्दाजी एवं गुरूमां मंदिर में दद्दाजी गुरूमां प्रतिमाओं की प्राण प्रतिष्ठा  विद्वान पंडितों द्वारा की जाएगी डॉ अनिल त्रिपाठी ने बैठक में कहा कि 26 मार्च को देव पूजन एवं जलाधिवास , 27 मार्च को अन्नधिवास एवं 27 मार्च को ही रात्रि में शैयाधिवास होगा तथा 28 मार्च को दोपहर 11 बजकर 30 मिनिट पर प्रतिमाओं की प्राणप्रतिष्ठा एवं  पूर्णाहुति होगी । 28 मार्च की सुबह 6 बजे से 11 बजे तक असंख्य शिवलिंग निर्माण किया जावेगा एवं श्री राधे राधे मंडल की भजन प्रस्तुति होगी एवं दोपहर 12 बजे से कन्या भोज एवं भंडारे प्रसादी का आयोजन किया गया है । इस अवसर पर दद्दाजी की पुण्य स्मृति में दद्दाजी की बगिया का उद्घाटन भी किया जावेगा । दद्दा शिष्य मंडल के प्रवक्ता वीरेन्द्र गौर ने बताया है कि डा.अनिल शास्त्री के सानिध्य में आयोजित में 28 मार्च को देश भर से दद्दा शिष्य एवं भक्त मंडल के परिवारों के साथ जननेता. अभिनेताओं एवं धार्मिक संतों के साथ हजारों  धर्म प्रेमी समुदाय का  जुडाव रहेगा । श्रीराम दरबार मंदिर में स्थित दद्दाजी के मंदिर एवं श्रीराम दरबार मंदिर में विशेष सजावट की जावेगी।श्रीराम दरबार मंदिर में फूलों की सजावट के लिए इलाहाबाद से फूल बुलाए जा रहे हैं एवं विशेष टेंट व्यवस्था भी की जा रही है तथा 28 मार्च की तैयारियों के लिए मार्च के प्रथम सप्ताह में दद्दा शिष्य मंडल की बैठक आयोजित कर जिम्मेदारी सौंपी जाना तय किया गया है । गौर ने बताया है कि 27 लाख से प्रस्तावित लागत मंदिर का निर्माण महाराष्ट्र के प्रसिद्ध कारीगरों द्वारा 8 माह में पूरा हो गया है ।
दद्दा शिष्य मंडल की बैठक में डा. अनिल शास्त्री जी का शाल श्री फल से सम्मान करते हुए महाआरती की गई है । इस अवसर  विद्वान पंडित केशव  महाराज के सानिध्य में पंडितों ने डॉ अनिल शास्त्री के आगमन पर स्तुति पाठ का वाचन किया तथा शिष्य मंडल ने पुष्प वर्षा कर बाजोंगाजों के साथ अगवानी की गई है ।डॉ अनिल शास्त्री ने अपने संबोधन में  दद्दा शिष्य मंडल सागर जिला को साधुवाद देते हुए कहा है कि गुरू शिष्य का अदभुत स्नेह इसी बात से लगता है कि देश में दद्दाजी के प्रथम मंदिर का शुभारंभ वृदावन की उपनगरीय सागर से होने जा रहा है. उन्होंने सागर को गुरू शिष्य के संस्कारों की राजधानी निरूपित किया है ।
इस अवसर पर दद्दा शिष्य मंडल के वरिष्ठ गुरूभाई डा. सुखदेव मिश्रा. सुरेन्द्र सुहाने. उत्तम सिंह ठाकुर.बड्डे भैया. राजकुमार तिवारी गडर .प्रमोद उपाध्याय . राजेन्द्र सिलाकारी इंजीनियर.अजय दुबे. शशांक शर्मा. शील चौबे .अजय गर्ग .शांतिस्वरूप गुड्डू दुबे. केशव महराज .सीताराम सेन . रितेश तिवारी .हेमंत रायकवार .अखिलेश गौर .अभिषेक गौर .राजेश तिवारी .प्रतीम सिंह ठाकुर.रिक्कू सूर्यश .संजय दुबे. सहित बडी संख्या में दद्दा शिष्य मंडल एवं भक्त मंडल के सदस्य उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here