नोएडा में फिल्म सिटी, कहां तक पहुंचा प्लान? सीएम योगी ने अफसरों के साथ की मीटिंग

0
6

नोएडा-ग्रेटर नोएडा या यमुना अथॉरिटी क्षेत्र में फिल्म सिटी बनाने की तैयारी चल रही है। इसके लिए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों से बातचीत की। यही नहीं, सीएम योगी के इस प्लान के लिए बीजेपी सांसद रवि किशन ने उन्हें धन्यवाद भी कहा है।

देश के साथ दुनिया भर में एजुकेशन हब के नाम से मशहूर नोएडा-ग्रेटर नोएडा के नाम जल्द ही एक और उपलब्धि जुड़ने वाली है। नोएडा-ग्रेटर नोएडा या फिर यमुना अथॉरिटी एरिया में फिल्म सिटी बनाने की तैयारी की जा रही है। एक तरफ जहां फिल्म निर्माताओं को राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के नजदीक बेहतर विकल्प उपलब्ध होगा। वहीं, बड़े स्तर पर लोगों को रोजगार भी मिलेगा। फिल्म सिटी विकसित करने के लिए नोएडा-ग्रेटर नोएडा अथॉरिटी के अधिकारियों को सीएम

योगी आदित्यनाथ ने जमीन तलाशने के निर्देश दिए हैं।

सीएम योगी आदित्यनाथ ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग करते हुए मेरठ, हापुड़, गाजियाबाद, गौतम बुध नगर, बागपत आदि जनपदों के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक की। इस दौरान नोएडा-ग्रेटर नोएडा और यमुना अथॉरिटी के अधिकारी भी मौजूद रहे। समीक्षा मीटिंग के दौरान सीएम योगी आदित्यनाथ ने शहर में बड़ी फिल्म सिटी बनाने की बात रखी। इसके लिए यमुना अथॉरिटी के सीईओ ने जमीन उपलब्ध कराने की सहमति भी दी है।

रवि किशन ने भेजा मेसेज
उधर, गोरखपुर से भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के सांसद रवि किशन ने एक वीडियो मेसेज के जरिए कहा, ‘भारत की सबसे सुंदर फिल्मसिटी तो आप सभी को शुभकामनाएं। धन्यवाद महाराज जी (योगी आदित्यनाथ) आपने मेरे निवेदन को, मेरे पत्र को आपने स्वीकारा, मैं कोटि-कोटि नमन करता हूं। आपने मेरे जैसे लाखों लोग, जो अनगिनत रूप से काम पाएंगे, सम्मान के साथ, स्वाभिमान के साथ, कोई उनको ठेस नहीं पहुंचाएगा। इसके लिए मैं आपको नमन करता हूं। जय श्रीराम।’

इन कलाकारों को प्लैटफॉर्म
सुशांत केस के बाद मुंबई फिल्म इंडस्ट्री पर सवाल खड़े हुए हैं। ऐसे समय में सरकार फिल्म सिटी बनाने की प्लानिंग कर रही है। माना जा रहा है योगी सरकार का यह कदम बहुत ही अहम होगा। साथ ही उत्तर भारत के कलाकारों को भी एक बेहतरीन प्लैटफॉर्म मिल सकेगा।

एजुकेशन हब के नाम से मशहूर
गौतम बुध नगर में फिल्म निर्माताओं को लुभाने के लिए सेक्टर-16 में फिल्म सिटी बसाई गई थी। फिल्म सिटी में एक तरफ जहां मीडिया चैनलों की भरमार है। वहीं, टी-सीरीज, मारवाह समेत कई स्टूडियो मौजूद हैं। नोएडा-ग्रेटर नोएडा स्थित इंजिनियरिंग, मैनेजमेंट व अन्य कॉलेजों में हर साल देश के कोने-कोने से लाखों स्टूडेंट्स भविष्य संवारने के लिए आते हैं। वहीं, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, साउथ अफ्रीका आदि देशों से भी यहां आकर विदेशी स्टूडेंट्स पढ़ाई कर रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here