बासमती चावल पर शिवराज और कैप्टन आमने-सामने, जानें क्या है पूरा मामला

0
36

एमपी में उत्पादित बासमती चावल को जीआई टैगिंग को लेकर शिवराज सिंह चौहान और पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर सिंह भिड़ गए हैं। कैप्टन अमरिंदर सिंह ने एमपी के बासमती को जीआई टैगिंग देने का विरोध किया है। इसे लेकर शिवराज ने भी करारा जवाब दिया है।

हाइलाइट्स

  • एमपी के बासमती चावल को जीआई टैगिंग देने पर पंजाब सीएम ने लगाया अड़गा
  • कैप्टन अमरिंदर सिंह ने पीएम को पत्र लिख कर जताया एतराज
  • सीएम शिवराज सिंह चौहान भी कैप्टन अमरिंदर पर भड़के
  • शिवराज सिंह चौहान ने भी इसे लेकर पीएम मोदी को लिखा खत
  • भोपाल
    बासमती चावल को जीआई टैग को देने को लेकर एमपी और पंजाब आमने सामने सामने है। पिछले दिनों केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर से मिलकर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने एमपी में उत्पादित बासमती चावल को जीआई टैग देने की मांग की थी। उससे संबंधित कुछ कागजात भी कृषि मंत्री को सीएम ने दिए थे। एमपी को बासमती चावल के लिए जीआई टैग मिले, इस पर पंजाब को एतराज है। दरअसल, पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने केंद्र सरकार को एक पत्र लिखा है, जिसमें एमपी को जीआई टैग देने को लेकर विरोध किया है। उन्होंने कहा है कि अगर जीआई टैंगिग व्यवस्था से छेड़छाड़ हुई तो इससे भारतीय बासमती के बाजार को नुकसान हो सकता है और इसका सीधा-साधा फायदा पाकिस्तान को मिल सकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here