मुख्तार अंसारी के बेटे उमर और अब्बास FIR के बाद फरार, पुलिस ने घोषित किया 25-25 हजार का इनाम

0
17

उत्तर प्रदेश (Uttar pradesh news) की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार ने मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) पर शिकंजा और कसा कर दिया है। बाहुबली सांसद का अवैध आशियाना ढहाने के बाद बेटों पर एफआईआर (FIR on Mukhtar ansari and his sons) दर्ज की गई थी। केस दर्ज होने के बाद से मुख्तार अंसारी (Mukhtar ansari uttar pradesh) के दोनो बेटे उमर और अब्बास फरार हैं। दोनों के ऊपर यूपी पुलिस (UP Police) ने इनाम घोषित किया है।

लखनऊ
उत्तर प्रदेश के बाहुबली डॉन मुख्तार अंसारी के पर शिकंजा कसता जा रहा है। उनके दोनों बेटों उमर और अब्बास पर 25-25 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया है। दोनों के ऊपर अवैध कब्जे, जालसाजी, साजिश रचने जैसे कई गंभीर धाराओं में केस दर्ज हैं। एफआईआर दर्ज होने के बाद से दोनों फरार हैं। पुलिस उनकी तलाश में जुटी है। उनका कुछ पता न चलने पर अब उन पर इनाम घोषित किया गाय है।

FIR के बाद से हैं फरार
लखनऊ के थाना हजरतगंज में जियामऊ इलाके के प्रभारी लेखपाल सुरजन लाल की ओर से दर्ज कराई गई एफआईआर के बाद से दोनों फरार हो गए थे। एफआईआर में आईपीसी की धारा 120बी, 420, 467, 468, 471 और सार्वजनिक संपत्ति नुकसान निवारण अधिनियम 1984 की धारा 3 के तहत केस दर्ज हैं।

लेखपाल ने लगाए थे आरोप
लेखपाल ने आरोप लगाया था कि मुख्तार ने अपने बेटों के साथ मिलकर निष्करांत संपत्ति पर अवैध तरीके से कब्जा किया। इसपर नियम विरुद्ध निर्माण कराया। इसके अलावा इनपर फर्जी कागजों को तैयार कराने और धोखाधड़ी के चार्ज भी लगाए गए हैं।

सरकारी जमीन पर बना अवैध निर्माण ध्वस्त हुआ था

प्रशासन ने लखनऊ के जियामऊ इलाके में मुख्तार अंसारी के बेटों उमर और अब्बास अंसारी की दो मंजिला इमारत को जमींदोज कर दिया था। आरोप था कि यह इमारत निष्करांत संपत्ति पर अवैध रूप से बनाई गई थी, जिसका लखनऊ विकास प्राधिकरण में मुकदमा भी चल रहा था। इस इमारत को गिराने से पहले एक नोटिस भी भेजा गया था, जिसपर दूसरे पक्ष की ओर से कोई स्पष्टीकरण नहीं दिया गया।

20 जेसीबी मशीनों ने गिराई इमारत

इस इमारत को कुल 8000 स्क्वॉयर फीट जमीन पर बनवाया गया था। पूर्व में इस इमारत को लेकर मुख्तार अंसारी के परिवार से जवाब भी मांगा गया था। इस इमारत को गिराने के लिए विभिन्न थानों की फोर्स मौके पर पहुंची थी। इसके साथ ही 20 से अधिक जेसीबी मशीनों को भी यहां पर लगाया गया था। इस कार्रवाई के दौरान अब्बास और उमर के कब्जे वाली दो मंजिला इमारत को जमींदोज कर दिया गया था।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here