सरकार के तुगलकी फरमानों से भांजियों – भांजों को हाथ पीलेे करने में रुकावट : रेखा चौधरी

0
74

सरकार के तुगलकी फरमानों से भांजियों – भांजों को हाथ पीलेे करने में रुकावट : रेखा चौधरी

महंगी शराब बेचकर सरकार भर रही है अपने खजाने और ठेकेदारों की तिजोरी – संदीप सबलोक

सागर/ कोरोना संक्रमण से बचाव को लेकर केंद्र सरकार की गाइडलाइन के विपरीत जिला स्तरीय प्रशासन के फरमानो से स्वयंभू मामा के भांजियों – भांजों को हाथ पीलेे करने से रोकने के लिए तुगलकी नियमों से बांधा जा रहा है। इसके साथ ही शराब की दुकानें खोले जाने से गरीब मजदूर और मध्यम वर्ग की महिलाओं के सामने बेगार के चलते घर चलाने में विपरीत परिस्थितियों का सामना करना पड़ रहा है। भाजपा सरकार की इस नीति से प्रदेश अराजकता की ओर बढ़ रहा है।
यह आरोप सागर जिला कांग्रेस अध्यक्ष रेखा चौधरी ने प्रदेश के मौजूदा हालात को देखते हुए प्रदेश की भाजपा सरकार पर लगाए हैं। उन्होंने कहा कि संक्रमण की मार के बीच शादियों के सीजन में सरकार के दोहरे कानून चल रहे हैं। एक तरफ केंद्र सरकार की एडवाइजरी में शादी कार्यक्रमों के लिए 50 लोगों को शामिल होने की छूट दी गई है। वहीं दूसरी तरफ जिलों का प्रशासन सिर्फ 5 लोगों को शामिल होने की अनुमति दे रहा है। इसके अलावा केंद्रीय गाइड लाइन के विपरीत एक जगह से दूसरी जगह जाने के लिए हल्के वाहन के रूप में कार जीप का उपयोग व दो पहिया वाहन पर सवारी बिठाना प्रतिबंधित किया गया है। ऐसे में दूल्हा दुल्हन के सगे रिश्तेदार तो दूर स्वयं दूल्हा अथवा दुल्हन भी एक से दूसरे स्थान को नहीं जा सकते हैं।

मध्यप्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता एवं पीसीसी सदस्य डॉ संदीप सबलोक आरोप लगाते हुए कहा कि एक तरफ गरीब मजदूर और मध्यम वर्ग बेगार के चलते व संसाधनों के अभाव में एक जगह से दूसरी जगह पैदल भागते हुए पूरे प्रदेश में सड़कों पर दम तोड़ रहा है। वहीं दूसरी तरफ शराब की दुकानें खोलकर पहले से आर्थिक संकट झेल रहे इन वर्गों को निर्धारित दामों से काफी महंगी शराब बेचकर सरकार अपने खजाने और ठेकेदारों की तिजोरी भर रही है। इस सबके चलते आम गरीब मजदूर और मध्यम वर्ग में हड़कंप की स्थिति है और पूरा प्रदेश अराजकता की ओर बढ़ रहा है। उन्होंने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान से मांग की है कि जनता में विद्रोह की स्थितियां बनने से पहले उक्त कार्य प्रणाली पर नियंत्रण लगाया जाए।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here